Malawi के उपराष्ट्रपति और नौ अन्य की विमान दुर्घटना में मृत्यु जानिए क्या है खबर ?

Malawi

Malawi के उपराष्ट्रपति Saulos Klaus Chilima की दुखद हुई मृत्यु

दुर्घटना की पुष्टि और खोज अभियान : -

Malawi के उपराष्ट्रपति Saulos Klaus Chilima और नौ अन्य लोगों की विमान दुर्घटना में मृत्यु हो गई है। Malawi के राष्ट्रपति लाजारस चकवेरा ने 11 जून को एक लाइव संबोधन में इस दुखद समाचार की पुष्टि की। यह दुर्घटना Malawi के उत्तरी भाग में एक पहाड़ी क्षेत्र में हुई, जहां विमान का मलबा मिला। खोज अभियान में एक दिन से अधिक समय लगा, जिसमें सैकड़ों सैनिक, पुलिस अधिकारी और वन रेंजर शामिल थे।

दुर्घटना का विवरण :-

विमान में सवार सभी दस लोग, जिनमें सात यात्री और तीन सैन्य कर्मी शामिल थे, की मृत्यु हो गई। विमान एक छोटे, प्रोपेलर चालित विमान था, जो Malawi की सेना द्वारा संचालित किया जा रहा था। विमान का प्रकार डोर्नियर 228 था, जिसे 1988 में सेना को दिया गया था। विमान राजधानी लिलोंगवे से 370 किलोमीटर उत्तर में स्थित म्जूज़ू शहर की ओर जा रहा था।

मौसम और एयर ट्रैफिक नियंत्रण की भूमिका :-

एयर ट्रैफिक कंट्रोलरों ने खराब मौसम और खराब दृश्यता के कारण विमान को म्जूज़ू के हवाई अड्डे पर उतरने की कोशिश न करने की सलाह दी थी और उसे लिलोंगवे लौटने को कहा था। इसके बाद, एयर ट्रैफिक नियंत्रण ने विमान से संपर्क खो दिया और यह रडार से गायब हो गया।

खोज और बचाव अभियान: -

विप्या पर्वत के विशाल वन क्षेत्र में लगभग 600 कर्मी खोज में शामिल थे। दुर्घटना के बाद, खोज और बचाव दलों ने पूरी कोशिश की, लेकिन किसी भी यात्री को बचाया नहीं जा सका।

Saulos Klaus Chilima का जीवन परिचय : -

Saulos Klaus Chilima Malawi के उपराष्ट्रपति के रूप में अपने दूसरे कार्यकाल में थे। वह 2014 से 2019 तक पूर्व राष्ट्रपति पीटर मुथारिका के तहत भी उपराष्ट्रपति रह चुके थे। उन्होंने 2019 के Malawi राष्ट्रपति चुनाव में उम्मीदवार के रूप में भाग लिया और तीसरे स्थान पर रहे। उस चुनाव को Malawi के संवैधानिक न्यायालय द्वारा अनियमितताओं के कारण रद्द कर दिया गया था।

ऐतिहासिक चुनाव पुनः आयोजन :-

2020 में ऐतिहासिक चुनाव पुनः आयोजन में, चिलिमा ने लाजारस चकवेरा के साथ उनके साथी उम्मीदवार के रूप में शामिल होकर चुनाव लड़ा। इस चुनाव में लाजारस चकवेरा राष्ट्रपति चुने गए। यह अफ्रीका में पहली बार था कि एक अदालत द्वारा पलटे गए चुनाव परिणाम के बाद सत्ता में बैठा राष्ट्रपति हार गया।

भ्रष्टाचार के आरोप

चिलिमा पर भ्रष्टाचार के आरोप भी लगे थे, जिसमें आरोप था कि उन्होंने Malawi सशस्त्र बलों और पुलिस के लिए सरकारी खरीद अनुबंधों को प्रभावित करने के बदले पैसे लिए थे। हालांकि, अभियोजकों ने पिछले महीने उनके खिलाफ आरोप हटा दिए थे। चिलिमा ने इन आरोपों का खंडन किया था, लेकिन इस मामले ने चकवेरा के प्रशासन पर भ्रष्टाचार के खिलाफ सख्त रुख नहीं अपनाने की आलोचना की।

विमान दुर्घटना की परिस्थितियाँ

विमान का तकनीकी विवरण :-

दुर्घटनाग्रस्त विमान Malawi की सेना द्वारा संचालित एक डोर्नियर 228 प्रकार का ट्विन-प्रोपेलर विमान था। यह विमान 1988 में Malawi सेना को सौंपा गया था। इस विमान में सात यात्री और तीन सैन्य कर्मी सवार थे।

मौसम की स्थिति और विमान का मार्ग :-

विमान लिलोंगवे से म्जूज़ू की ओर जा रहा था, जो 370 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। सोमवार की सुबह उड़ान भरने के बाद विमान के लापता होने की खबर आई। एयर ट्रैफिक कंट्रोल ने विमान को म्जूज़ू के हवाई अड्डे पर खराब मौसम और खराब दृश्यता के कारण उतरने की कोशिश न करने की सलाह दी थी और उसे लिलोंगवे लौटने को कहा था।

खोज अभियान की कठिनाइयाँ :-

दुर्घटना के बाद, Malawi के उत्तरी भाग में विप्या पर्वत के विशाल वन क्षेत्र में खोज और बचाव अभियान चलाया गया। इस अभियान में लगभग 600 कर्मी शामिल थे, जिसमें सैनिक, पुलिस अधिकारी और वन रेंजर शामिल थे। खोज अभियान में एक दिन से अधिक का समय लगा, लेकिन किसी भी यात्री को बचाया नहीं जा सका।

Malawi के उपराष्ट्रपति का राजनीतिक सफर

उपराष्ट्रपति के रूप में कार्यकाल

Saulos Klaus Chilima 2014 से 2019 तक Malawi के उपराष्ट्रपति थे। वह पूर्व राष्ट्रपति पीटर मुथारिका के प्रशासन में इस पद पर थे। 2019 में, चिलिमा ने Malawi के राष्ट्रपति चुनाव में हिस्सा लिया और तीसरे स्थान पर रहे। इस चुनाव को Malawi के संवैधानिक न्यायालय ने अनियमितताओं के कारण रद्द कर दिया था।

2020 का ऐतिहासिक चुनाव पुनः आयोजन :-

2020 में, चिलिमा ने लाजारस चकवेरा के साथ उनके साथी उम्मीदवार के रूप में शामिल होकर चुनाव लड़ा। इस चुनाव में लाजारस चकवेरा राष्ट्रपति चुने गए। यह अफ्रीका में पहली बार था कि एक अदालत द्वारा पलटे गए चुनाव परिणाम के बाद सत्ता में बैठा राष्ट्रपति हार गया। चिलिमा की इस भूमिका ने उन्हें Malawi की राजनीति में एक महत्वपूर्ण स्थान दिलाया।

भ्रष्टाचार के आरोप और उनका निवारण

चिलिमा पर आरोप लगाया गया था कि उन्होंने Malawi सशस्त्र बलों और पुलिस के लिए सरकारी खरीद अनुबंधों को प्रभावित करने के बदले पैसे लिए थे। हालांकि, पिछले महीने अभियोजकों ने उनके खिलाफ आरोप हटा दिए थे। चिलिमा ने इन आरोपों का खंडन किया था, लेकिन इस मामले ने चकवेरा के प्रशासन पर भ्रष्टाचार के खिलाफ सख्त रुख नहीं अपनाने की आलोचना की।

Malawi की राजनीति और भविष्य

चकवेरा के प्रशासन की चुनौतियाँ

Saulos Klaus Chilima की मृत्यु Malawi के लिए एक बड़ा झटका है। चकवेरा के प्रशासन को अब इस दुखद घटना के बाद कई चुनौतियों का सामना करना पड़ेगा। प्रशासन को न केवल इस दुर्घटना की जांच करनी होगी बल्कि देश में शांति और स्थिरता बनाए रखने के लिए भी कदम उठाने होंगे।

भविष्य की राजनीतिक दिशा

Malawi की राजनीति में चिलिमा की मृत्यु का प्रभाव दीर्घकालिक होगा। चकवेरा के नेतृत्व में सरकार को अब नए नेतृत्व को स्थापित करने और जनता के विश्वास को बनाए रखने के लिए प्रयास करना होगा।

निष्कर्ष (Conclusion)

Malawi के उपराष्ट्रपति Saulos Klaus Chilima और नौ अन्य की विमान दुर्घटना में मृत्यु ने पूरे देश को गहरे शोक में डाल दिया है। इस दुखद घटना ने Malawi की राजनीति में एक बड़ा शून्य पैदा कर दिया है। चिलिमा का जीवन और उनका राजनीतिक सफर एक प्रेरणा था, और उनकी अनुपस्थिति को भरना मुश्किल होगा। चकवेरा के प्रशासन को अब इस संकट से निपटने और देश को स्थिरता की ओर ले जाने के लिए ठोस कदम उठाने होंगे !  इस ब्लॉग में हमने जाना “Malawi के उपराष्ट्रपति के साथ हुई दुर्घटना के बारे में”. दोस्तों आशा करता हूँ इस ब्लोग के माध्यम से आप सब को “के साथ हुई दुर्घटना”  के बारे में उचित जानकारी दे पाया हूँ इसी तरह की ट्रेंडिंग एजुकेशन, इंटरनेंमेंट, बिज़नेस, करियर, और ज्योतिषी जैसे खबरों के लिए हमारे वेबसाइट को विजिट करते रहें Trending Tadka और साथ ही हमांरे सोशल मीडिया साइट्स जैसे Facebook , Instagram , Twitter , You TubeTelegram , LinkedIn को भी फॉलो करें ताकि वहां भी आपको अपडेट मिलता रहे !

Also Watch this 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top